Contact us: WhatsApp : +91-9978612287 or Email : contact@kritinova.in
Manu Smriti in Sanskrit-Hindi and Transliteration

    Manu Smriti in Sanskrit-Hindi and Transliteration

    ₹ 660.00
    Tax included. Shipping Free.
    • Barcode:
    DESCRIPTION

    मनुस्मृति क्या है?

    मानव इतिहास का प्रथम संविधान अथवा ‘शूद्रों’ और महिलाओं पर अत्याचार करने वाला पितृ-सत्तात्मक ब्राह्मणवादी पाखंड? क्या मनुस्मृति में

    ‘शूद्रों’ के प्रति घृणा है?

    महिलाओं के प्रति द्वेष है?

    ‘ब्राह्मण’ के पक्ष में पक्षपात है?

    शूद्र और ब्राह्मण जन्म आधारित जातियाँ हैं?

    शूद्र ब्राह्मण और ब्राह्मण शूद्र नहीं हो सकता?

    शूद्र का संतान शूद्र और ब्राह्मण का ब्राह्मण ही होता है?

    शूद्र के हाथ का भोजन नहीं खाना चाहिए?

    मांस/गोमांस खाने का विधान है?

    जानिए ये सारे उत्तर सीधे मनुस्मृति से। जानिए हिंदू इतिहास में हुए सबसे भयानक षड्यंत्र के बारे में। “ब्राह्मण के घर में भोजन पकाने वाले शूद्र को सबसे पहले खिलाना और फिर उससे बचे भोजन को स्वयं ब्राह्मण द्वारा खाना” इस नियम को देने वाली मनुस्मृति को शूद्र विरोधी/छुआछूत की पुस्तक किसने बनाया? वास्तविक मनु के ग्रंथ में मिलावट किसने की और कहाँ कहाँ की?

    मनुस्मृति के हर एक श्लोक पर शोध करके इस पुस्तक में से मिलावटी श्लोकों को मूल मनुस्मृति के श्लोकों से अलग किया गया है। यह सिद्ध किया गया है कि कोई श्लोक प्रक्षिप्त है तो क्यों, और ठीक है तो क्यों। हिंदी भाषा में यह सरल परंतु शोधपूर्ण अनुवाद महर्षि मनु पर लगाए गए झूठे आरोपों को छिन्न भिन्न करने वाला है। 

    मनुस्मृति ग्रंथ अपने शुद्ध रूप में शूद्र और स्त्रियों का सबसे बड़ा रक्षक है। यह हमारा वचन है। विश्वास नहीं तो इस पुस्तक को पढ़ें और स्वयं निर्णय करें।

    ----------------

    Manusmriti : Is it oldest surviving constitution for humans or a patriarchal Brahmanical tool to subjugate Dalits and women? Does Manusmriti have

    Hatred for Dalits?

    Hatred for women?

    Bias for Brahmans against Dalits?

    Are Brahman and Shudra birth based castes?

    Can’t a Shudra become Brahman and vice versa?

    Is child of a Shudra/Brahman necessarily a Shudra/Brahman?

    Can’t a Brahman eat from Shudra’s hands?

    Does Manusmriti sanction meat/beef eating?

    Get answers straight from Manusmriti. Know the greatest conspiracy in human/Hindu history. Who declared Manusmriti root of untouchability despite having rule that “a Brahman will only eat what is left after Shudra (maker of food at Brahman’s house) has eaten to their satisfaction?” Who polluted the original message of Manu and where?

    Extensive research on each Shloka has been carried out and a clear segregation between original Shlokas of Manu and the later day interpolations has been established. This authentic translation in Hindi destroys all fake propaganda against Manusmriti.

    Manusmriti in its original form is greatest protector of women, Dalits, weak and vulnerable. Read and see yourself.

    PRODUCT FEATURES

    • Publisher: Aarsh Sahitya Prachar Trust
    • Commentary: Dr. Surendra Kumar
    • Language: Sanskrit - Hindi
    • Book Dimensions: 21 cm x 26 cm x 6 cm (Hardcover)
    • Pages: 815
    DELIVERY
    • Book will be ready to ship in 1-2 business days.
    • Delivery might take up to 3 to 5 business days depending upon the location.
    REVIEWS

    Customer Reviews

    Based on 9 reviews Write a review
    GENERAL TAB

    RELATED PRODUCTS

    BACK TO TOP